Thursday, 11 February 2016

Comming soon 600 channels from doordarshan to all india using DVB-T (Digital VideoBroadcast-Terrestrial) Technology.

Manoj | 06:01:00 | | |

जल्द ही आप 600 से भी ज्यादा चैनल
दूरदर्शन के चैनलों की तरह फ्री में देख
सकेंगे। दरअसल, दूरदर्शन बहुत ही
लेटेस्ट टेक्नोलॉजी DVB-T का उपयोग शुरू
करने जा रहा है। DVB-T (Digital Video
Broadcast-Terrestrial) टेक्नोलॉजी के
अंतर्गत दूरदर्शन अपने ट्रांसमीटरों को
डिजिटल बनाने जा रहा है।
गौरतलब है कि इसके लिए देशभर में
ट्रांसमीटर लगाए जाएंगे और दूरदर्शन
की यह सौगात दर्शकों के लिए जल्द ही
शुरू हो जाएगी। इस नइ टेक्नोलॉजी से पेड
चैनल भी देखें जा सकेंगे और इनके लिए भी
हर महीने कोइ शुल्क नहीं लिया जाएगा।
देश में इस समय चैनल दिखाने की दो
व्यवस्थाएं है पहला-सैटेलाइट के द्वारा,
इससे फिलहाल सारे चैनल दिखाएं जाते हैं
और दूसरा- ट्रांसमीटरों के द्वारा,
ट्रांसमीटरों के द्वारा प्रसारण का
अधिकार केवल दूरदर्शन को ही है।
अब इस नइ सेवा से दूरदर्शन की क्षमता
अपने दर्शकों को एक चैनल की जगह दस
चैनल दिखाने की हो जाएगी।
क्या है खास-
1.दूरदर्शन की इस नइ टेक्नोलॉजी से
आप मोबाइल, लैपटॉप, टैबलेट आदि सभी
पर आप फ्री में चैनलों को लुत्फ उठा
सकेंगे।
2.DVB-T बहुत आधुनिक टेक्नोलॉजी है
इससे दूरदर्शन की क्षमता कइ गुना बढ़
जाएगा और ज्यादा से ज्यादा फ्री चैनल
दर्शकों को दिखाएं जा सकेंगे।
3.अन्य प्राइवेट कंपनियां देशभर में अपने
चैनल सैटेलाइट के द्वारा दिखाती है,
लेकिन दूरदर्शन को इस नइ सेवा के लिए
यह कंपनियां थोडा सा शुल्क देकर अपनी
पसंद के इलाकों में प्रसारण कर सकती है।
ें
4.सेटेलाइट की तुलना में दूरदर्शन से
चैनल दिखाना अपेक्षाकृत 25% तक तक
सस्ता पड़ेगा।
5.दूरदर्शन द्वारा प्रसारित सभी चैनल
आप DVB-T सुविधा से लैस टीवी में
नॉर्मल एंटीना लगाकर देख सकेंगे
6.पुराने टीवी में यह चैनल देखने के लिए
आपको बस डोंगल की जरूरत पड़ेगी और
सेटटॉप बॉक्स को लगाना नहीं पड़ेगा।

Share this article

1 comments:

 
Blogger Templates | Template Design By BTDesigner